Read more about the article बिना संघर्ष, अपंग है जीवन | Struggle To Success Story in Hindi
Struggle For Success

बिना संघर्ष, अपंग है जीवन | Struggle To Success Story in Hindi

संघर्ष ही जीवन है । जीवन संघर्ष का ही दूसरा नाम है । इस सृष्टि में छोटे-से-छोटे प्राणी से लेकर बड़े-से-बड़े प्राणी तक, सभी किसी-न-किसी रूप में संघर्षरत हैं । जिसने संघर्ष (Struggle) करना छोड़ दिया, वह मृतप्राय हो गया । जीवन में संघर्ष है प्रकृति के साथ, स्वयं के साथ, परिस्थितियों के साथ । तरह-तरह के संघर्षों का सामना आएदिन हम सबको करना पड़ता है और इनसे जूझना होता है । जो इन संघर्षों का सामना करने से कतराते हैं, वे जीवन से भी हार जाते हैं, जीवन भी उनका साथ नहीं देता ।

44 Comments
Read more about the article पांच कदम अपने सपनों की ओर
Follow Your Dreams

पांच कदम अपने सपनों की ओर

इस दुनिया में 90% लोग अपने साथ धोखा कर रहे है, जानना चाहोगे कैसे ? क्योंकि ये वो लोग है जो सिर्फ जीने के लिए जी रहे है ,ये भूल चुके है की इनके सपने क्या है ,इनके जीवन में सिर्फ जरूरते है,शिकायतें है और अपने आप के लिए झूठी तसल्ली है ,इन्होने समझोता कर लिया है| ये सब डर की वजह से बिना कोशिश किये ही हार मान बैठे है ,ये लोग आराम से अपनी जिंदगी जी रहे है लेकिन इसके बावजूद भी ये अपने जीवन से संतुस्ट नहीं है क्योंकि ये सब के सब वो नहीं कर रहे है जो करने की क्षमता इनमे है,और जब हम हालातों से समझोता कर लेते है तो जिंदगी बड़ी नीरस हो जाती है|

65 Comments
Read more about the article मंच पर बिना भय के कैसे बोले?
Speak on Stage Without Fear

मंच पर बिना भय के कैसे बोले?

मंच पे जाते ही हाथ पैर कांपना, गले से आवाज़ न निकलना, पसीना छूटना, वहाँ से भाग जाने का मन करना ये सब आम बात है। इन सब का कारण असफलता का डर है। असफलता ही भय का कारण बनता है। तो आइए जानते है इस भय से निकलने के कुछ आसान समाधान। जिस विषय में आप भाषण देने वाले हो उस विषय के बारे में अध्ययन करे और फिर एक अच्छा भाषण तैयार करे, भाषण के महत्वपूर्ण मुद्दे एक Note पर लिख कर अपने साथ रखे। अगर Stag पर आपका ध्यान भटक जायें और आप कुछ लाइनें भूल जायें तो उस वक्त आपकी यह Note आपके बहुत काम लगेगी।

33 Comments
Read more about the article जादव मोलाई वनपुरुष की कड़ी मेहनत और सफलता की कहानी
Forest Man

जादव मोलाई वनपुरुष की कड़ी मेहनत और सफलता की कहानी

Never Underestimate The Power of “One” एक अकेला इन्सान क्या कुछ नहीं कर सकता, इसका सहीं जवाब जादव मोलाई जी के जीवन से हमें मिलता है, जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत, लगन और ज़िद से दुनिया का नक्शा बदल दिया । जहाँ सुखी ज़मीन थी वहाँ अपने परिश्रम और प्रबल मनोबल से ३०० हेक्टेयर में अकेले अपने बलबूते जंगल बना दिया । जादव मोलाई का जीवन ही एक संदेश है, और हमें बहुत प्रेरित भी करता है अगर ठान ले ज़िद जितने की तो औकात नहीं मुश्किलों की हमें रोकने की ।

7 Comments
Read more about the article जो होता है अच्छे के लिए होता है
जो होता है अच्छे के लिए होता है

जो होता है अच्छे के लिए होता है

एक राजा अपने मंत्री के साथ जंगल में शिकार पर निकले । जंगल की यात्रा के दौरान राजा की उंगली कट गई और रक्त बहने लगा । यह देख मंत्री ने राजा से कहा – “चिंता न करें राजन ! भगवान जो करता है, अच्छे के लिए करता है ।” राजा पीड़ा से व्याकुल थे, ऐसे में मंत्री का कथन सुन क्रोध से तमतमा उठे । क्रोध में आकर राजा ने मंत्री को अपने कारावास में दाल देने की आज्ञा दी । राजा का आदेश का पालन करते हुये उनकें सिपाहीयों ने तुरन्त ही मंत्री को पकड़कर कारावास में दाल दिया ।

24 Comments
Read more about the article चंद्रशेखर का आजाद जीवन
Chandra Shekhar Azad

चंद्रशेखर का आजाद जीवन

आजादी पाने के लिए देश की बलिवेदी पर अनगिनत क्रांतिकारी बलिदान हो गए । उनमें से एक प्रमुख क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद थे । उनका जन्म २३ जुलाई, १९०६ को मध्यप्रदेश के भाँवर में हुआ था । चंद्रशेखर कट्टर सनातन धर्मी ब्राहाण परिवार में पैदा हुए थे । इनके पिता नेक और धर्मनिष्ठ थे और उनमें अपने पांडित्य का कोई अहंकार नहीं था । वे बहुत स्वाभिमानी और दयालु प्रवृति के थे । घोर गरीबी में उन्होंने दिन बितायें थे और इसी कारण चंद्रशेखर की अच्छी शिक्षा नहीं हो पाई।

17 Comments
Read more about the article निष्फलता को सफलता में कैसे बदले? | Failure To Success
From Failure To Success Story

निष्फलता को सफलता में कैसे बदले? | Failure To Success

जीवन मे मिलने वाली असफलता के कारण इन्सान के मन में निराशा फैल जाती है, विपरीत परिस्थितियां हर व्यक्ति की जिंदगी में कभी न कभी आती ही हैं | ऐसे में आत्मविश्वास सूखी रेत की तरह मुठ्ठियों से फिसलने लगता है | चारोँ तरफ अंधकार ही अंधकार नजर आता है, साहस घुटने टेकने लगता है | एक पल ऐसा लगता है कि सब कुछ नष्ट हो जाएगा और सारे रास्ते बंध होते दिखाई देते है । लेकिन यह सच नहीं है सफल होने के रास्ते कभी बंध होते ही नहीं है, यह हमारे सोच पर निर्भर है अगर हम निष्फलता में भी बिना गभाराए सकारात्मक सोच बनाएं रखेंगे

23 Comments